National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

ग्रामीण अर्थव्यवस्था में ज्यादा संसाधनों पर आवंटन करने की जरूरत : डॉ.संजय

”ग्रामीण अर्थव्यवस्था में ज्यादा संसाधनों पर आवंटन करने की जरूरत”
डॉ.संजय बी चोरड़िया, नेशनल जेनरल सेक्रेटरी, आईसीसीआई

विजय न्यूज़ ब्यूरो
नई दिल्ली। इंटीग्रेटेड चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के नेशनल जेनरल सेक्रेटरी डॉ.संजय बी चोरड़िया ने कहा है कि केंद्र सरकार को बजट में ग्रामीण अर्थव्यवस्था में ज्यादा संसाधनों पर आवंटन करने की जरूरत है। ताकि कृषि पर व्यय बढ़ने से भारतीय किसानों के हाथों में खर्च करने योग्य आय बढ़ेगी और मांग बढ़ने से ग्रामीण अर्थव्यवस्था भी पटरी पर लौटेगी।

डॉ.संजय बी चोरड़िया ने कहा है कि अभी तक जो सरकार खास तौर पर कृषि क्षेत्र में आवंटन की है यह पर्याप्त आवंटऩ नहीं है, अब समय है इसे बढ़ाया जाए। पिछले वित्त वर्ष में देखें तो पूरे साल के लिए पीएम किसान योजना की राशि जो दी गई जिससे कृषि और संबंधित गतिविधि पर सरकार का खर्च बढ़कर 5.4 फीसदी है।

आईसीसीआई के नेशनल जेनरल सेक्रेटरी ने कहा कि निश्चिततौर पर कृषि और उससे संबंधित गतिविधि पर सरकारी खर्च में पीएम-किसान की सबसे अधिक हिस्सेदारी है। संभवतः हाल के वर्षों में किसानों के लिए सबसे बड़ी घोषणा भी है। डॉ.संजय बी चोरड़िया ने कहा कि किसानों के बैंक खातों में प्रत्यक्ष नकदी अंतरण कृषि पर खर्च का सबसे बड़ा जरिया बन गया है। लेकिन किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए बजट में कृषि संसाधनों पर जोर देना होगा। तभी ग्रामीण इलाकों का समान रूप से विकास होगा।

Print Friendly, PDF & Email
Translate »