National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

क्राइम ब्रांच के हत्थे चढ़ा ‘ऑयल चोर’ गैंग

पुलिस को इनके कब्जे से चोरी में इस्तेमाल होने वाला टैंकर, 1100 लीटर एविएशन ऑयल, पाइप लाइन में होल करने वाले उपकरण, एक सेंट्रो कार, जनरेटर और 8000 रुपये भी बरामद किए हैं. इन आरोपियों से चोरी का ऑयल खरीदने वाले शख्स को भी पुलिस ने पकड़ लिया है.

विजय न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। क्राइम ब्रांच (Delhi Police Crime Branch) ने आईओसीएल (IOCL) की पाइप लाइन से एविएशन ऑयल चोरी करने वाले एक गैंग का पर्दाफाश कर छह आरोपियों को पकड़ लिया है. शुरुआती पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वो पाइप लाइन से केरोसिन ऑयल चुराकर दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में इसे बेच देते हैं. अभी तक आरोपी लाखों लीटर ऑयल चुरा चुके हैं.

डीसीपी क्राइम ब्रांच भीष्म सिंह ने बताया कि हमें शिकायत मिली थी कि आईओसीएल की सप्लाई करने वाली पाइप लाइन से एविएशन ऑयल चोरी किया जा रहा है. जिसके बाद से ही एसटीएफ की सर्तक थी और ऑयल चोरी करने वाले इस गैंग की तलाश कर रही थी. इसी दौरान पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि आज रात गैंग के पांच सदस्य बड़ी ऑयल चोरी के इरादे से टैंकर लेकर निहाल विहार आने वाले हैं.

मुखबिर की खबर पर पुलिस ने लगाया ट्रैप
ये खबर सुनते ही पुलिस टीम मौके के लिए रवाना हो गई और मुंडका निहाल विहार रोड पर ट्रैप लगाया. थोड़ी देर बीत जाने के बाद मुंडका से निहाल विहार की ओर एक टैंकर और सेंट्रो कार जाती दिखी. दोनों वाहन निलौठी निहाल विहार स्थित एक गोदाम में घुस गए. इसके बाद पुलिस ने गोदाम पर दबिश डाल और गैंग के सभी छह आरोपियों को दबोच लिया.

आरोपी के पास मिला सामान किया जब्त
आरोपियों की पहचान संजय धवन, मुकेश कुमार, समय पाल, अवलेश, हिमांशु व संजय के तौर पर हुई है. पुलिस को इनके कब्जे से चोरी में इस्तेमाल होने वाला टैंकर, 1100 लीटर एविएशन ऑयल, पाइप लाइन में होल करने वाले उपकरण, एक सेंट्रो कार, जनरेटर और 8000 रुपये भी बरामद किए हैं. इन आरोपियों से चोरी का ऑयल खरीदने वाले शख्स को भी पुलिस ने पकड़ लिया है.

पाइप लाइन से ऐसे करते ऑयल की चोरी
आरोपी समय सिंह और मुकेश कुमार को आईओसीएल के सप्लाई होने वाले पाइपलाइन की पूरी जानकारी थी. वे डेढ़ साल से तेल चोरी कर रहे थे. खासकर, चोरी की वारदात को अंजाम रात में देते थे. अवलेश और हिमांशु पाइप लाइन में हॉल कर देते थे, जबकि गैंग के दो सदस्य उनकी तरफ आने वाले लोगों या फिर वाहन पर नजर रखते थे. पाइप लाइन में होल करने के बाद वे उसमें वॉल्व फिट कर देते और वहीं पास खड़े टैंकर में पाइप के जरिए तेल भर लेते थे. इसके बाद होल किए गए सुराग को मिट्‌टी भरकर फरार हो जाते थे.

 

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar