न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

पाकिस्तान की एक और नापाक साजिश नाकाम

 कठुआ में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास मिली सुरंग

जम्मू. बीएसएफ ने जम्मू के कठुआ सेक्टर में पाकिस्तान की एक और बड़ी साजिश को नाकाम करते हुए एक पाकिस्तान द्वारा खोदी गई एक सुरंग का पता लगाया है. बीएसएफ के जम्मू के आईजी एन एस जम्वाल का दावा है कि ये सुरंग काफी पुरानी है और क्या पाकिस्तान ने यहां से घुसपैठ कराई है इसका पता जांच के बाद ही लग पाएगा.

यह सुरंग करीब 150 मीटर लंबी और 25 से 30 फीट गहरी है
सीमा से आतंकी भेजने में नाकाम पाकिस्तान ने जम्मू के कठुआ से सुरंग के जरिए आतंकी भेजने की साजिश रची है, जिसे सीमा पर तैनात बीएसएफ के जवानों ने विफल किया है. जम्मू के कठुआ जिले के बोबिया इलाके में बीएसएफ में बुधवार सुबह पाकिस्तान द्वारा खोदी गई एक सुरंग का पता लगाया. जम्मू बीएसएफ के आईजी एन एस जम्वाल के मुताबिक यह सुरंग करीब 150 मीटर लंबी है और यह करीब 25 से 30 फीट गहरी है. इस सुरंग का मुहाना करीब ढाई से तीन फीट का है और यह सीमा से करीब 30 मीटर तक भारतीय इलाके में आकर खुलती है.

बीएसएफ को कई ऐसे सैंडबैग मिले हैं
बीएसएफ ने दावा किया है कि सीमा पर खोदी गई है सुरंग पुरानी है क्योंकि, इस सुरंग की जांच के दौरान बीएसएफ को कई ऐसे सैंडबैग मिले हैं जो 2016 या 2017 के हैं. इन सैंडबैग्स से बीएसएफ यह अनुमान लगा रही है कि यह सुरंग बहुत पहले की खोदी गई है. बीएसएफ ने दावा किया है कि यह सीमा पर अब तक मिली नौंवी टनल है, जिसका इस्तेमाल पाकिस्तान आतंकियों को भारतीय सीमा में धकेलने के लिए कर रहा था. इस सुरंग से जो सेंड बैग बीएसएफ को मिले हैं उनमें से कई सैंड बैग साल 2016 और 2017 के हैं. इन सैंड बैग्स की हालत को देखकर यह अंदाजा लगाना मुश्किल नहीं है कि यह सुरंग काफी पुरानी है. इन सैंड बैग्स पर पाकिस्तानी कंपनियों के नाम भी है. बीएसएफ ने दावा किया है कि उन्हें विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों से लगातार इस बात की सूचना मिल रही थी कि जम्मू के कठुआ जिले के बोबिया इलाके में एक टनल है, जिसका इस्तेमाल पाकिस्तान घुसपैठ कराने की फिराक में है.

सुरंग से किसी भी घुसपैठ होने के सबूत नहीं मिले हैं
बीएसएफ के मुताबिक इस टनल को खोजने के लिए लगातार इलाके में विभिन्न ऑपरेशन चलाए जा रहे थे, जिसका नतीजा यह हुआ है कि पाकिस्तान की इस साजिश का पता चला. बीएसएफ ने दावा किया है कि हाल-फिलहाल में इस टनल से किसी भी घुसपैठ होने के सबूत नहीं मिले हैं. लेकिन, क्या पहले में इस टनल से घुसपैठ हुई है इसका पता जांच के बाद ही लग पाएगा.

शकरगढ़ को पाकिस्तान का आतंक गढ़ भी कहा जाता है
बीएसएफ ने कठुआ जिला के जिस बोबिया इलाके से इस टनल का पता लगाया है, उसके ठीक सामने पाकिस्तान का शक्करगढ़ इलाका पड़ता है. शकरगढ़ को पाकिस्तान का आतंक गढ़ भी कहा जाता है क्योंकि यहां पर जैश-ए-मोहम्मद और हिजबुल मुजाहिदीन के कई लॉन्चिंग पैड से जहां से पाकिस्तान लगातार घुसपैठ कराने की फिराक में रहता है. एलओसी पर हुई बर्फबारी के बाद अब पाकिस्तान लगातार जम्मू के अंतरराष्ट्रीय सीमा से घुसपैठ कराने की साजिश रच रहा है, जिसके लिए ऐसी सुरंगे पाकिस्तान के लिए वरदान साबित हो रही है.

बीएसएफ की मानें तो कठुआ जिले के जिस बोबिया इलाके से यह सुरंग मिली है वहां पर इस समय बीएसएफ कई विकास के कार्य कर रही है. यहां पर बीएसएफ सीमा के साथ लगे इलाकों में मिट्टी के बांध बना रही हैं ताकि इस इलाके में खेती कर रहे किसान पाकिस्तान की गोलीबारी से बच सकें. आज सुबह जब बीएसएफ के जवान इस बांध बनाने के काम में लगे हुए थे उसी समय इस सुरंग का पता चला है.

 

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar