National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप की नैया पार लगाएंगे PM मोदी

वॉशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (US President Donald Trump) के लिए इस बार का चुनाव काफी मुश्किल रहने वाला है. कोरोना (CoronaVirus) सहित ऐसे कई मुद्दे हैं, जिन्हें लेकर लोगों में ट्रंप के प्रति नाराजगी है. हालांकि, इसके बावजूद ट्रंप भारतीय-अमेरिकियों (Indian Americans) का विश्वास हासिल कर सकते हैं. हाल में हुए एक सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है कि डोनाल्ड ट्रंप को भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Indian Prime Minister Narendra Modi) से करीबी का फायदा 3 नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में मिल सकता है. सर्वे में ऐसे 12 फैक्टर बताये गए हैं, जिनके आधार पर ट्रंप के डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बिडेन की तुलना में भारतीय-अमेरिकियों के वोट हासिल करने की संभावना अधिक है. इसमें सबसे महत्वपूर्ण है ‘ट्रंप-मोदी’ फैक्टर (Trump-Modi factor). समाचार एजेंसी PTI के मुताबिक, ट्रंप विक्ट्री इंडियन अमेरिकन फाइनेंस कमेटी के सह-अध्यक्ष अल मेसन (Trump-Modi factor,” the survey conducted by Al Mason) द्वारा किए गए सर्वेक्षण में कहा गया है कि राष्ट्रपति चुनाव में ‘ट्रंप-मोदी’ फैक्टर डोनाल्ड ट्रंप के पक्ष में जा सकता है.

50 फीसदी ट्रंप के साथ
सर्वेक्षण के अनुसार, संभावित भारतीय अमेरिकी मतदाताओं में से कम से कम 50 प्रतिशत, जिनमें से अधिकांश ने पारंपरिक रूप से पिछले राष्ट्रपति चुनावों में डेमोक्रेट उम्मीदवार के पक्ष में मतदान किया है, इस बार ट्रंप का साथ देंगे. सर्वे में कहा गया है कि अमेरिका में रहने वाले भारतीयों को लगता है कि मोदी-ट्रंप की जोड़ी वैश्विक स्तर पर चीन को किनारे करने में अहम भूमिका निभा सकती है.

ये हैं अन्य फैक्टर
इसके अलावा, जो अन्य फैक्टर डोनाल्ड ट्रंप के पक्ष में जा सकते हैं वे यह हैं कि ट्रंप प्रशासन भारतीयों के साथ अच्छा बर्ताव करता है. अमेरिका भारत के आंतरिक मामलों में बेवजह दखलंदाजी नहीं करता. खासकर कश्मीर पर उसका रुख भारत के पक्ष में है और उसने वैश्विक स्तर पर भारत का दर्जा बढ़ाया है. सर्वेक्षण में कहा गया है कि राष्ट्रपति ट्रंप ने वैश्विक मंच मंच पर भारत का कद बढ़ाया है. निश्चित रूप से, इसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका के प्रति कुशल नीति को भी जाता है. भारत-अमेरिका संबंध आज बेहद मजबूत हैं. ट्रंप-मोदी ने दोनों देशों के रिश्तों को नई ऊंचाई पर पहुंचा दिया है.

चीन के खिलाफ रणनीति से जनता खुश
सर्वेक्षण में चीन के खिलाफ ट्रंप के सख्त रुख को भी उनके पक्ष में बताया गया है. सर्वे के मुताबिक, चीन को लेकर सरकार ने जो रणनीति बनाई है, उससे अमेरिकी जनता खुश है, क्योंकि ट्रंप ने अमेरिका को युद्ध में झोंकने के बजाये अलग तरीके से चीन के खिलाफ मोर्चा खोला है.

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar