न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

विश्व हिंदी संस्थान कनाडा की “काव्य रंगोली” सम्पन्न

होली के रंग काव्य के संग 

विजय न्यूज़ नेटवर्क। डॉ शम्भू पंवार
नई दिल्ली। विश्व हिंदी संस्थान, कनाडा के तत्वावधान में होली के अवसर पर कवि सम्मेलन ’काव्य रंगोली’ होली के रंगों की रंगीनियत के साथ संपन्न हुआ। अंतरराष्ट्रीय कवि सम्मेलन के मुख्य अतिथि के रूप में टोरंटो में भारत की प्रधान कौंसल श्रीमति अपूर्वा श्रीवास्तव ने मां सरस्वती की प्रतिमा के आगे दीप प्रज्वलित कर कवि सम्मेलन का विधिवत प्रारंभ किया। कार्यक्रम के दौरान श्रीमती अपूर्वा श्रीवास्तव का विश्व हिंदी संस्थान, अखिल विश्व हिंदी समिति व संस्कृत योग सभा द्वारा सम्मानित किया गया ।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि ने पाराशर गौड़, मीनू गौड़ (भारत), भारती शर्मा (भारत) व रीनू शर्मा को सम्मानित किया। इस मौके पर विश्व हिंदी संस्थान कनाडा के अध्यक्ष डॉ.सरन घई द्वारा रचित व सम्पादितमुक्तिपथ-
प्रेमपथ महाकाव्यगीत’ (विश्व की सबसे ल्म्बी कविता), सुनो, तुम मुझसे झूठ तो नहीं बोल रहे’ (कहानी संग्रह), ’खट्टे-मीठे रिश्ते’ (सामूहिक उपन्यास) व राजद्रोही (निर्माणाधीन फ़िल्म की कहानी) भेंट की गई।
काव्यरंगोली में खचाखच भरे हाल में कवियों में डा. देवेन्द्र मिश्रा, पाराशर गौड़, आचार्य संदीप त्यागी, डा. कैलाश भटनागर, भगवत शरण श्रीवास्तव, सरन घई, निर्मल सिद्धु, हरभगवान शर्मा, गोपाल बघेल, अजय गुप्ता, पैरी रोतेला, सरदार हरजिंदर सिंह भसीन तथा कवयित्रियों में श्रीमति सुधा मिश्रा, भारती शर्मा (भारत), डा. सरस्वती जोशी (फ़्रांस), डा. साधना जोशी, सुमन मेदीरत्ता, मीनू गौड़ (भारत), रीनू शर्मा, सविता अग्रवाल, ऋचा बघेल, सरोजनी जौहर, श्यामा सिंह, युक्ता लाल व ऋचा मोहन ने शानदार काव्यपाठ किया। गुरुदत्त वैद व उनकी पत्नी संतोष वैद ने मधुर कंठ से एक गाने की प्रस्तुति दी। जिसे सभी ने सराहा।

इस अंतर्राष्ट्रीय कवि सम्मेलन में भारत में रह रहे कवि मित्रों ने भी होली पर अपनी चतुष्पदियां भेजीं। सभी की कविताओं का ताली बजाकर अभिनंदन किया गया। जिन कवियों की कविताएं पढ़ी उनमे अमिता अग्रवाल, कंचन श्रीवास्तव, ललित जोशी, राम स्वरूप दीक्षित, आर. जी. कुरील, चेतना भाटी, ऋषिकांत उपाध्याय, दीपिका दीक्षित, उमेश प्रसाद सिंह, बलराम निगम, मोती प्रसाद साहू, उमेश प्रसाद सिंह, पुनीता भारद्वाज, डा. अंजू लता सिंह, सुमति दुबे, पूनम कश्यप, पद्मा मिश्रा, डा. मंजू गुप्ता, शील निगम व चंचल शर्मा प्रमुख है। विश्व हिंदी संस्थान के संस्थापक अध्यक्ष सरन घई ने उपस्थित साहित्यिक विभूतियों का एवं बैंटिंग इंटरनेशनल स्कूल के प्राचार्य संजीव धवन जी का आभार व्यक्त किया।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar