न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

प्रख्यात साहित्यकार डॉ. अर्चना गुप्ता की काव्य कृति “अर्चना की कुंडलिया भाग 1 व भाग 2 का” लोकार्पण

विजय न्यूज़ नेटवर्क। डॉ. शम्भू पंवार
नई दिल्ली। प्रख्यात कवियत्री,साहित्यकार एवं शिक्षाविद डॉ. अर्चना गुप्ता की 2 नवीन कृतियां – ‘अर्चना की कुंडलियाँ’ (भाग-१ एवं भाग-२) का भव्य लोकार्पण हुवा। साहित्यपीडिया के तत्वावधान में स्वतंत्रता सेनानी भवन मुरादाबाद मे आयोजित विमोचन समारोह की अध्यक्षता सुप्रसिद्ध नवगीतकार डॉ० माहेश्वर तिवारी ने की। मुख्य अतिथि साध्वी गीता प्रधान (दर्जा राज्य मंत्री उ० प्र०) तथा विशिष्ट अतिथियों के रूप में डॉ० मक्खन मुरादाबादी ‘ (सुप्रसिद्ध व्यंग्य-कवि), सुरेंद्र राजेश्वरी(आकाशवाणी) उपस्थित थे। आरम्भ में मयंक शर्मा ने माँ शारदे की वंदना प्रस्तुत की।
तत्पश्चात अतिथियों ने प्रख्यात साहित्यकार एव शिक्षाविद डॉ. अर्चना गुप्ता 2 कृतियों “अर्चना की कुण्डलिया भाग 1 व भाग 2” का लोकार्पण किया।
समारोह के अध्यक्ष सुप्रसिद्ध नवगीतकार डॉ० माहेश्वर तिवारी ने कहा – “कुंडलियाँ काव्य का वह रूप है जो सदियों से लोगों के हृदय को लुभाता रहा है। वर्तमान समय में कुंडलियाँ छंद में रचना कर्म बहुत कम हो रहा है। ऐसे समय में डॉ० अर्चना गुप्ता की कुंडलियों के दो संग्रह आना साहित्यिक रूप से तो महत्वपूर्ण है ही, कुंडलियों के कथ्य एवं विषयों के संदर्भ में भी बहुत महत्वपूर्ण है।” मुख्य अतिथि, साध्वी गीता प्रधान (दर्जा राज्यमंत्री )ने कहा अर्चना जी की कुण्डलियाँ समाज मे
जागृति पैदा करने की क्षमता से ओतप्रोत बताते हुवे कहा कि उनकी कृतियाँ साहित्य जगत में ऊँचाईयों को प्राप्त करेंगी।”
विशिष्ट अतिथि डॉ० मक्खन ‘मुरादाबादी’ का कहना था -“सामाजिक विषमताओं पर सशक्त प्रहार करना दोनों ही कुंडलियाँ संग्रहों की विशेषता है। कृतियों में दी गई कुंडलियाँ, विषमताओं को सामने लाते हुए उनका हल भी प्रस्तुत करती हैं।
विशिष्ट अतिथि सुरेंद्र राजेश्वरी ने कहा की अर्चना गुप्ता जी की कुंडलियाँ लोगों के अंतस को गहराई से स्पर्श करने में सक्षम हैं।” समारोह में वरिष्ठ साहित्यकार डॉ अजय अनुप, वरिष्ठ रचनाकार अशोक विश्नोई,प्रसिद्ध शायर डॉ कृष्ण कुमार ‘नाज’, रचनाकार राजीव प्रखर ने भी विचार व्यक्त किये।
इस अवसर पर कवयित्री डॉ० अर्चना गुप्ता ने अपनी कुछ कुण्डलियों का पाठ भी किया – समारोह का संयोजन व कुशल संचालन भारत विख्यात रामलीला निर्देशक डॉ. पंकज दर्पण अग्रवाल ने बड़े ही मनमोहक साहित्यिक अंदाज में किया।
इस अवसर पर महानगर की विभिन्न संस्थाओं कार्तिकेय, संस्कार भारती, मुरादाबाद सांस्कृतिक समाज और अखिल भारतीय अग्रवाल समाज आदि ने डॉ0 अर्चना गुप्ता का पगड़ी पहनाकर शाल, अंग वस्त्र, पटके आदि भेंट कर स्वागत, अभिनन्दन किया।
कार्यक्रम में सुप्रसिद्ध नवगीतकार योगेंद्र वर्मा व्योम, डॉ० महेश दिवाकर, डॉ० मनोज रस्तोगी, डॉ० संगीता महेश, संजीव आकांक्षी, ओंकार सिंह ओंकार, डॉ० अतुल गुप्ता, श्री जयकृष्ण पूर्वी, श्री सुशील शर्मा, श्री मदन पाल सिंह, विवेक निर्मल, डॉ० सरिता लाल, डॉ० संगीता महेश, राशिद मुरादाबादी, कशिश वारसी, अहमद मुरादाबादी, डॉ० उमाकांत गुप्ता, संतोष गुप्ता, डॉ० आर०सी० शुक्ल, श्रीकृष्ण शुक्ल, मोनिका मासूम, हेमा तिवारी भट्ट, डॉ० ममता सिंह, मीनाक्षी ठाकुर, रघुराज सिंह निश्चल, मोनिका अग्रवाल, शायर मुरादाबादी, मनोज मनु, अखिलेश वर्मा, शुभम अग्रवाल, रवि चतुर्वेदी, अभिनीत मित्तल, सरफराज पीपलसानवी, शिशुपाल मधुकर, इला मित्तल, इशांत शर्मा, आवरण अग्रवाल सहित अनेक साहित्य प्रेमी उपस्थित रहे।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar