न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

कोरोना की संभावित स्थिति अनुसार समय रहते करें तैयारी : मुख्यमंत्री मनोहर लाल

  • ग्रामीण क्षेत्र में संक्रमण का फैलाव चिंता का विषय, लोगों को टेस्टिंग व बचाव उपायों के लिए किया जाए जागरूक: सीएम
  • वीडियो कॉफ्रेंस के माध्यम से मुख्यमंत्री ने की कोविड-19 स्वास्थ्य सुविधाओं व प्रबंधों की समीक्षा, इस संबंध में उपायुक्तों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश

सिरसा।  मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ते कोरोना संक्रमण पर रोक लगाने के लिए अधिकारी शहर के साथ-साथ गांवों पर भी विशेष ध्यान दें। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष कैंप लगा कर सैंपलिंग व वैक्सिनेशन को बढ़ाएं और कोविड-19 नियमों (मास्क, सोशल डिस्टेसिंग व साफ-सफाई) बारे ग्रामीणों को जागरूक किया जाए।
मुख्यमंत्री वीरवार को वीडियो कॉफ्रेंस के माध्यम से अधिकारियों के साथ कोविड-19 स्वास्थ्य सुविधाओं व प्रबंधों की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सभी उपायुक्तों को इस संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए। यहां लघुसचिवालय स्थित एनआईसी वीसी रूम से प्रधान सचिव एवं जिला कोविड-19 प्रभारी विनित गर्ग, उपायुक्त प्रदीप कुमार, पुलिस अधीक्षक भूपेंद्र सिंह, जिला नगर आयुक्त संगीता तेतरवाल, अतिरिक्त उपायुक्त उत्तम सिंह, एसडीएम सिरसा जयवीर यादव, एसडीएम कालांवाली विजय सिंह, एसडीएम डबवाली अश्वनी कुमार, एसडीएम ऐलनाबाद दिलबाग सिंह, सिविल सर्जन डा. कृष्ण कुमार सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने भाग लिया। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने निगरानी समिति, आवश्यक वस्तुओं एवं एंबुलेंसों के रेट निर्धारित करने, आक्सीजन की सप्लाई, वैक्सिनेशन, पोजिविटी रेट, टेस्टिंग के साथ-साथ अन्य बिन्दुओं बारे विस्तार से जानकारी ली।
मुख्यमंत्री ने कहा कि शहर के साथ-साथ कोरोना संक्रमण गांवों में भी फैल रहा है, इसके लिए और अधिक सजगता व सावधानी तथा कोविड-19 के नियमों की पालना करना बेहद जरूरी है ताकि संक्रमण फैलाव पर रोक लग सके। उन्होंने कहा कि शहरों विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना को लेकर जागरूकता अभियान चलाया जाए और लोगों को शुरूआती लक्षण पर ही टेस्ट करवाने व कोविड-19 नियमों की पालना के लिए प्रेरित किया जाए। ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को जागरूक किया जाए और उन्हें घर में रहकर बचाव उपायों की पालना के लिए पे्ररित किया जाए। गांवों में कोविड-19 नियमों के अनुरूप अनुशासन बनाए रखने पर बल दिया जाए ताकि कोरोना संक्रमण फैलाव को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि गांवों में मेडिकल व आयुर्वेद उत्पाद की किटों का वितरण करवाया जाए, ताकि लोगों की इम्यूनिटी बढाकर कोरोना से बचाव किया जा सके। वैक्सिनेशन का कार्य तेजी से किया जा रहा हैं। प्रथम चरण में 3 लाख वैक्सिन उपलब्ध करवाई गई है और दूसरे चरण में साढ़े तीन लाख वैक्सिन उपलब्ध करवाकर निर्धारित मापदण्डों के तहत जिला वाईज वितरित कर दी गई हैं। उन्होनें कहा कि जहां पर भी वैक्सिन का कार्य चल रहा हैं, वहां पर यह सुनिश्चित करें कि यह कार्य बन्द कमरे में न होकर खुले में हो, ऐसे करने से भीड़ ज्यादा नहीं हो सकेगी और वैक्सिन के कार्य में सुगमता मिलेगी। उन्होनें कहा कि जिन जिलों में पोजिटिवीटी रेट ज्यादा है वहां पर टेस्टिंग बढऩे का कार्य किया जाए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिकारी संभावित स्थिति अनुसार समय रहते सभी आवश्यक तैयारियां पूर्ण कर लें। लॉकडाउन में ऐसी व्यवस्था की जाए कि लॉकडाउन की पालना भी हो और आमजन को कोई परेशानी भी न हो। इसके साथ ही लॉकडाउन की सभी हिदायतों व नियमों की पालना करवाई जाए। शादी-समारोह में निर्धारित संख्या से अधिक लोग न हों, इसके लिए नियमित रूप से निरीक्षण किया जाए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 इलाज वाले निजी अस्पतालों का पूरा सहयोग किया जाए। कालाबाजारी किसी भी सूरत में नहीं होनी चाहिए। संबंधित अधिकारी इसके लिए छापेमारी करें और जो भी ऐसा करता है, तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाए। वैक्सीनेशन सुचारू रूप से चलाया जाए। वैक्सीनेशन खुले में हों, ताकि सोशल डिस्टेसिंग भी रहे और लोगों को कोई परेशानी भी न हो।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जो कोरोना संक्रमित ठीक होकर जा रहे हैं और जरूरतमंद ऐसे लोगों को छोटे आक्सीजन गैस सिलेंडर घरों में मिल सकें इसके लिए पोर्टल शुरू किया जा रहा हैं, जिस पर वे रजिस्ट्रेशन करवाना सुनिश्चित करें। इस कार्य में सामाजिक संस्थाएं भी आगे आकर अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं, इसलिए उनका भी रजिस्ट्रेशन करवाएं, ताकि वे ऐसे लोगों को घरों पर स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से छोटे आक्सीजन गैस सिलेंडर घरों में उपलब्ध करवा सकें।
प्रधान सचिव एवं जिला सिरसा के कोविड प्रभारी विनित गर्ग ने मुख्यमंत्री को बताया कि सिरसा में कोरोना की स्थिति बारे अवगत करवाते हुए कहा कि जिला में ऑक्सीजन की कमी नहीं है, जरूरत अनुसार लगातार अस्पतालों को उपलब्ध करवाई जा रही है। उन्होंने बताया कि जिला में सैंपलिंग कार्य को बढाया जा रहा है। इसके साथ ही जरूरत अनुसार अतिरिक्त स्वास्थ्य सुविधाओं की विस्तार भी किया जा रहा है।
उपायुक्त प्रदीप कुमार ने मुख्यमंत्री को बताया कि सिरसा में सरकार के आदेशानुसार एम्बूलेंस, कोविड-19 सहित स्वास्थ्य सेवाओं सहित सभी आवश्यक वस्तुओं के रेट निर्धारित किए गए हैं ताकि आवश्यक वस्तुओं की किसी प्रकार की कालाबाजारी न हो। इसके लिए निगरानी कमेटी का भी गठन किया गया है। जिला स्तर पर गठित कमेटी की ओर से वॉलियंटर के माध्यम से 200 किट (मास्क, गलब्ज, टेबलेट आदि) वितरित की जा रही हैं। उन्होंने बताया कि शहर में जेसीडी में 100 बैड (50 बैड सेवा के लिए तैयार) तथा महाराजा अग्रसेन चेरिटेबल ट्रस्ट मेें 150 बैड की व्यवस्था की गई है, जिसे शीघ्र की शुरु कर दिया जाएगा। जिला में वैक्सिनेशन का कार्य तेजी से किया जा रहा है तथा लोग भी इस कार्य में आगे आकर आयुवर्ग के अनुसार वैक्सिन लगवाने का काम कर रहें हैं।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar