National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

पुलवामा के शहीदों को नमन

धरती माता गुण गाती है , है अंबर भी आभारी

देश पे मर मिटने का जज्बा हर जज्बे से था भारी
एक बार आगाज हुआ फिर नहीं फिक्र अंजाम की
कसम उठा ली थी उन सबने भारत मां के नाम की
ऐसी कसम उठाई कि हो गई दंग दुनिया सारी
देश पे मर मिटने का जज्बा हर जज्बे से था भारी
देशभक्तों की भीड़ चली थी साहस लेकर साथ में
वंदे मातरम का नारा था और तिरंगा हाथ में
उनके अंदर की अग्नि तलवार हुई थी दो धारी
देश पे मर मिटने का जज्बा हर जज्बे से था भारी
देश की रक्षा करते-करते वार सभी वो झेल गए
बचा लिया था देश को अपने भले जान पर खेल गए
उनके साहस जज्बे को नमन करे दुनिया सारी
देश पे मर मिटने का जज्बा हर जज्बे से था भारी
विक्रम कुमार
मनोरा , वैशाली
Print Friendly, PDF & Email
Tags:
Skip to toolbar