National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

कई जवाबों से अच्छी खामोशी ‘उसकी’, विकास दुबे एनकाउंटर पर राहुल का तंज

नई दिल्ली: आज कानपुर एनकाउंटर का मुख्य आरोपी विकास दुबे पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारा गया. पुलिस ने आज सुबह ही उसका एनकाउंटर कर दिया. पुलिस के एनकाउंटर पर अब कई तरह के सवाल उठ रहे हैं. इसी बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक ऐसा ट्वीट किया जो इसी तरफ इशारा करता है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर विकास दुबे के एनकाउंटर मामले पर इशारों-इशारों में निशाना साधा. उन्होंने लिखा,”हजारों जवाबों से अच्छी है खामोशी उसकी, न जाने कितने सवालों की आबरू रख ली”
यहां बता दें कि राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में कहीं भी एनकाउंटर का जिक्र नहीं किया लेकिन कहा जा रहा है कि उनका संकेत विकास दुबे के एनकाउंटर से ही है.

कानपुर पुलिस के एडीजी प्रशांत कुमार ने क्या कहा
गैंगस्टर विकास दुबे के एनकाउंटर मामले पर उत्तर प्रदेश में कानपुर पुलिस के एडीजी प्रशांत कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने विकास दुबे के एनकाउंटर की पूरी कहानी बताई. उन्होंने कहा, पहले विकास दुबे से सरेंडर करने के लिए कहा गया था लेकिन उसने पुलिसवालों को जान मारने की नियत से फायरिंग की. जिसके बाद बचाव में पुलिस ने उसपर गोली चलाई.
एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा, मध्यप्रदेश पुलिस द्वारा विकास दुबे को गिरफ्तार किए जाने के बाद उत्तर प्रदेश एसटीएफ पुलिस उसे कानपुर लगा रही थी. कानपुर पहुंचने से पहले पुलिस की गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त होकर पलट गई. दो पुलिसकर्मी घायल हो गए. इस दौरान विकास दुबे ने घायल पुलिसवालों की पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश की. पुलिस टीम ने उसे घेरकर आत्मसमर्पण करने के लिए कहा गया. लेकिन वह नहीं माना और जान से मारने की नियत से पुलिस टीम पर फायरिंग करने लगा. इसके बाद पुलिस ने आत्मरक्षा के लिए जवाबी कार्रवाई की गई, जिसमें वह घायल हो गया. उसे तुरंत इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. इस घटना में चार पुलिसकर्मी घायल हुए, एसटीएफ के दो कर्मी घायल हुए.
उन्होंने बताया, दो जुलाई को कानपुर एनकाउंटर मामले में कुल 21 आरोपी नामजद हैं और 60 से 70 अन्य अभियुक्त थे. जिसमें से अब तक 3 लोग गिरफ्तार हुए हैं, 6 मारे गए हैं और 120 बी के अंदर 7 लोगों को गिरफ्तार करके जेल भेजा गया है. 12 इनामी बदमाश वांछित चल रहे हैं

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar