National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

रालसन इण्डिया ने ऑटो एक्स्पो 2020 में मोटरसाइकलों के लिए लाॅन्च किए अपने आधुनिक और इको-फ्रैंडली टायर इकोरेसर – 120/80-18

  • इकोरेसर – के साथ रालको बेहद प्रतिस्पर्धी 2 पहिया ऑटोमोबाइल टायर बाज़ार में नए मार्ग की ओर अग्रसर 

विजय न्यूज ब्यूरो
नई दिल्ली। रालको ऑटोमोटिव टायर ब्राण्ड के मालिक रालसन (इण्डिया) लिमिटेड, लुधियाना ने आज ऑटो एक्स्पो 2020 में मोटरसाइकलों के लिए अपने आधुनिक और इको-फ्रैंडली इकोरेसर-टायर का लाॅन्च किया। रालसन 40 फीसदी मार्केट शेयर के साथ भारत में साइकलों के टायर और ट्यूब्स का सबसे बड़ा उत्पादक और निर्यातक है, जिसकी 70 देशो में सशक्त मौजूदगी है। पिछले 6 सालों में इसका सालाना टर्नओवर लगातार बढ़ते हुए 2019 में 800 करोड़ रु तक पहुंच गया है, कंपनी 2 बिलियन डाॅलर के दोपहिया टायर बाज़ार के लिए बड़ी क्षमता विस्तार योजनाएं बना रही है।
रालको दोपहिया टायर सेगमेन्ट में तुलनात्मक रूप से नया खिलाड़ी है, इसका पहले से 5 फीसदी मार्केट शेयर है और लुधियाना, पंजाब में इसकी दो आधुनिक फैक्टरियां हैं।
आधुनिक और इको-फ्रैंडली इकोरेसर – 120/80-18 मोटरसाइकल टायर के लाॅन्च के साथ कंपनी कोरपोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व की दिषा में एक नई शुरुआत करने के लिए तत्पर है और आधुनिक पीढ़ी के प्रभुत्व वाले इस बाज़ार में आकर्शक ब्राण्ड बन गई है।
भारत के सबसे महत्वपूर्ण और विष्वप्रसिद्ध श ऑटो एक्स्पो 2020 में इकोरेसर-मोटरसाइकल टायर के लाॅन्च की घोशणा करते हुए श्री संजीव पाहवा, चेयरमैन एवं मैनेजिंग डायरेक्टर रालसन (इण्डिया) लिमिटेड ने कहा, ‘‘रालको ने अपने उत्पादों की गुणवत्ता और डीलरों की सक्रियता के आधार दोपहिया टायर बाज़ार में 5 फीसदी मार्केट शेयर हासिल कर लिया है। अब यह अपने आप को उपभोक्ताओं के पसंदीदा ब्राण्ड के रूप में स्थापित करना चाहती है और उनकी उम्मीदों पर खरा उतरने के लिए प्रतिबद्ध है। आधुनिक और इको-फ्रैंडली मोटरसाइकल टायर इकोरेसर के लाॅन्च के साथ, हम उद्योग जगत में अपनी स्थिति और मार्केट शेयर को और अधिक मजबूत बनाना चाहते हैं।’’

इकोरेसर – 120/80-18 मोटरसाइकल टायर पर्यावरण के अनुकूल टायर है, पेट्रोलियम आधारित रसायनों के कारण होने वाले प्रदूशण को कम करने के लिए इसमें बड़ी मात्रा में सिलिका का इस्तेमाल किया गया है। सिलिका कार्बन डाई आॅक्साईड उत्सर्जन को कम करने में मदद करता है और टायर के रोलिंग रेज़िस्टेन्स को कम कर इंजन के परफोर्मेन्स को बढ़ाता है, जिससे वाहन की माइलेज बढ़ती है। रालको इकोरेसर मोटरसाइकल टायर अत्याधुनिक टैªड डिज़ाइन में तैयार किया गया है जो माइलेज, सुरक्षा और टिकाऊपन का बेहतरीन संयोजन प्रस्तुत करता है।

रालको इकोरेसर मोटरसाइकल टायर की विशेषताएंः 
पर्यावरण के अनुकूल और षानदार परफोर्मेन्स – आम टायरों के विपरीत, जिन्हें एनआर, सिंथेटिक रबड़ और पेट्रोलियम आधारित उत्पादों से बनाया जाता है ? रालको इकोरेसर में बड़ी मात्रा में सिलिका का इस्तेमाल किया जाता है। सिलिका टायर और सड़क के बीच फ्रिक्षन को कम कर मुवमेन्ट को सुगम बनाता है, इससे जहां एक ओर वाहन का परफोर्मेन्स बेहतर होता है वहीं दूसरी ओर कार्बन डाई आॅक्साईड का उत्सर्जन भी कम होता है।
री-सायक्लिंग द्वारा व्यर्थ में कमी – रालको इकोरेसर के अवयव डी-वल्कनेलाइज़ेषन द्वारा रीसायकल किए जा सकते हैं, जिससे व्यर्थ में कमी आती है।
बेहतर टैªड पैटर्न – रालको इकोरेसेर मोटरसाइकल टायर का डायनामिक टैªड पैटर्न बेहतर ग्रिप बनाता है, जिससे वाहन का परफोर्मेन्स बेहतरीन बना रहता है, फिर चाहे सड़क सूखी हो या गीली।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar