न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

एसबीआई और एनपीसीआई ने योनो यूजर्स के लिए शुरू किया जागरूकता अभियान

नई दिल्ली. देश के सबसे बड़े ऋणदाता भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) और रिटेल और डिजिटल भुगतान से संबंधित अग्रणी संगठन नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने यूपीआई लेनदेन की पहुंच को ओर बढ़ाने पर अपना ध्यान केंद्रित करने के लिए एक समर्पित अभियान शुरू करने का निर्णय किया है। इस सिलसिले में एसबीआई और एनपीसीआई ने साझेदारी करते हुए आबादी के सभी वर्गों तक यूपीआई लेनदेन को पहुंचाने के लिए प्रयास शुरू किए हैं। इस संयुक्त पहल का उद्देश्य एसबीआई के बैंकिंग और लाइफस्टाइल प्लेटफॉर्म योनो के उपयोगकर्ताओं को यूपीआई भुगतान के लिए प्रोत्साहित करना है, जो भुगतान का एक आसान, सुरक्षित और तात्कालिक तरीका है।

2017 में अपनी शुरुआत के बाद से योनो पर 34 लाख से अधिक के साथ यूपीआई रजिस्ट्रेशन हुए हैं और 2,520 करोड़ रुपए से अधिक के 62.5 लाख से ज्यादा लेनदेन किए गए हैं। वर्तमान दैनिक औसत लगभग 27,000 लेन-देन का है (पिछले 30 दिनों में)। इस अभियान के तहत एनपीसीआई और एसबीआई की कोशिश रहेगी कि अधिक से अधिक ग्राहकों को योनो प्लेटफॉर्म के साथ जोड़ा जाए और उन्हें यूपीआई के लाभों के बारे में शिक्षित करने का प्रयास किया जाए, ताकि अधिक से अधिक लोग भुगतान के लिए यूपीआई को अपना सकें। एनपीसीआई की सीओओ सुश्री प्रवीणा राय ने कहा, ‘‘योनो उपयोगकर्ताओं के बीच यूपीआई जागरूकता को बढ़ावा देकर डिजिटल भुगतान सिस्टम को मजबूत करने के लिए एसबीआई के साथ साझेदारी करते हुए हम प्रसन्नता का अनुभव कर रहे हैं। ग्राहकों को बस अपनी यूपीआई आईडी जानने और उसका उपयोग करने की आवश्यकता है ताकि वे अपने योनो ऐप से किसी अन्य बैंक या भुगतान ऐप को भुगतान करने या भुगतान हासिल करने की सुविधा का आनंद ले सकें। इस अभियान के साथ, हमारा उद्देश्य यूपीआई उपयोगकर्ताओं की संख्या को बढ़ते हुए देखना है, जो कम नकदी वाली अर्थव्यवस्था की ओर एक महत्वपूर्ण कदम है। एनपीसीआई में हम हमेशा अपने अभियानों के माध्यम से ग्राहकों के बीच यूपीआई को बढ़ावा देते रहे हैं, ताकि वे सिर्फ स्मार्टफोन के सहारे परेशानी रहित और कैशलेस खरीदारी का अनुभव कर सकें।’’
एसबीआई के डीएमडी (स्ट्रेटेजी एंड चीफ डिजिटल आॅफिसर) श्री रविंद्र पांडे कहते हैं, ‘‘यूपीआई को अपनाने वाले लोगों की संख्या में महीने-दर-महीने मजबूत वृद्धि नजर आ रही है जो डिजिटल भुगतान को अपनाने के लिए ग्राहकों की इच्छा का प्रमाण है। इस वित्त वर्ष में योनो प्लेटफाॅर्म ने 2086 करोड़ रुपए के 5.30 मिलियन लेनदेन दर्ज किए हैं। यूपीआई वर्तमान में भारत में सबसे अधिक पसंदीदा डिजिटल भुगतान मोड में से एक है, जिसके साथ 207 से अधिक बैंक जुड़े हुए हैं। भारतीय स्टेट बैंक जनवरी 2021 तक लगभग 664.75 मिलियन लेनदेन को प्रोसेस करते हुए इस सेगमेंट में सबसे आगे है।’’

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar