न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

मध्य प्रदेश में 1 जुलाई से नहीं खुलेंगे स्कूल, कोरोना की संभावित तीसरी लहर के चलते फैसला

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर की रफ्तर अब थमने लगी है. इसी के साथ तमाम राज्यों में लगाए गए प्रतिबंध भी हटाए जाने शुरू हो गए हैं. वहीं स्कूलों को भी एक बार फिर से खोले जाने को लेकर चर्चा शुरू हो गई हैं. इन सबके बीच कोरोना की तीसरी लहर बच्चों के लिए काफी खतरनाक भी बताई जा रही है. ऐसे में मध्य प्रदेश में फिलहाल 1 जुलाई से स्कूल नहीं खुलेंगे. स्कूल खोले जाने को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियो के साथ चर्चा करेंगे.

कोविड की संभावित तीसरी लहर के चलते नहीं खोले जाएंगे स्कूल

जानकारी के मुताबिक बच्चों को कोरोना की संभावित तीसरी लहर से बचाने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई बैठक में फैसला लिया गया है कि 1 जुलाई से राज्य में स्कूल नहीं खोले जाएंगे. बैठक के दौरान बच्चों की शिक्षा ऑनलाइन क्लासेस या टीवी के माध्यम से ही जारी रखने पर फैसला हुआ है.

अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों से स्कूल खोलने पर की जाएगी चर्चा

गौरतलब है कि स्कूल खोलने के महत्वपूर्ण निर्णय के संबंध में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों से भी चर्चा करेंगे. मुख्यमंत्री, स्कूल शिक्षा से सम्बंधित केंद्रीय मंत्रियों से भी स्कूल खोलने के सम्बंध में चर्चा करेंगे और विशेषज्ञों से भी इस संबंध में राय ली जाएगी. सबसे सलाह करने के बाद ही प्रदेश में स्कूल खोलने पर अंतिम फैसला लिया जाएगा.

संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए तैयारियां शुरू

बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने ये भी कहा कि कोरोना की तीसरी संभावित लहर घातक न बन पाए इसके लिए पहले से सारी तैयारियां शुरू कर दी गई हैं. वहीं एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स को शुरू करने के लिए 100 फीसदी टीकाकरण और कोविड के अनुकूल व्यवहार करना अनिवार्य होगा. इसके साथ ही मीटिंग के दौरान BAMS, BHMS और BUMS सहित कई एग्जाम जुलाई के अंतिम सप्ताह में ऑफ लाइन मैथेड से कराए जाने पर भी चर्चा की गई.

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar