National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

हिंसा फैलानेवाले दोषियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए : मनोज तिवारी

विजय न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली । दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी ने दिल्ली में हिंसा के लिए स्थानीय लोगों को उकसाने के आरोप में कांग्रेस की पूर्व निगम पार्षद इशरत जहां की गिरफ्तारी पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि दिल्ली हिंसा में पहले आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन का शामिल होना फिर कांग्रेस की निगम पार्षद इशरत जहां का नाम सामने आना एक ही बात की ओर इशारा कर रहा है कि आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने मिलकर दिल्ली में हिंसा को भड़काने का काम किया है। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध प्रदर्शन के दौरान भड़काऊ भाषण देने के लिए इशरत जहां को 13 जनवरी को भी खजूरी खास इलाके से प्रदर्शन के दौरान गिरफ्तार किया गया था लेकिन फिर भी इशरत जहां लगातार हिंसा भड़काने वाले भाषण देती रही।

श्री तिवारी ने कहा कि धर्म विशेष की राजनीति करने वाली आम आदमी पार्टी और कांग्रेस मिलकर दिल्ली को दंगे की आग में झोंकने की कोशिश की है। हिंसा के माहौल में ये सभी राजनैतिक पार्टियों की नैतिक जिम्मेदारी थी कि वो ऐसे किसी भी बयानबाजी से बचे जिससे हिंसक गतिविधियों को बढ़ावा मिले लेकिन आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के नेताओं ने ये साबित कर दिया है कि दिल्ली के सुरक्षा और शांति व्यवस्था उनके लिए मायने नहीं रखती है। श्री तिवारी ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून बनने के बाद आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने इस कानून का विरोध किया जिससे दिल्ली के लोगों को गलत संदेश गया और वो भी इस कानून के खिलाफ हो गए।

दिल्ली हिंसा पर अपनी चिंता जाहिर करते हुए श्री तिवारी ने कहा कि वो लगातार लोगों के संपर्क में हैं और शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए हरसंभव प्रयास किया जा रहा है। लोग अभी भी डरे हुए हैं लेकिन हालात सामान्य की ओर बढ़ रहा है। मेरी यही कामना है कि जल्द से जल्द घायल स्वस्थ हों और हिंसा फैलानेवाले दोषियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। सभी को ये समझने की जरूरत है कि नागरिकता संशोधन कानून भारत के मुसलमानों या भारत में जन्में लोगों पर लागू ही नहीं होता है, इसलिए दिल्ली के लोग चाहें वो मुसलमान हो या हिंदू, उन्हें इन अफवाहों पर ध्यान नहीं देना चाहिए।

Print Friendly, PDF & Email
Tags:
Skip to toolbar