National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

Tag: artical

Total 23 Posts

आश्रय स्थल में ही आसरा नहीं तो फिर आसरा कहाँ साहेब

ये कैसी तरक्की है यह कैसा विकास है जहाँ इंसानियत हो रही हर घड़ी शर्मसार है,? ये कैसा दौर है ये कैसा शहर है जहाँ बेटियों पर भी बुरी नजर

सरकारी खजाने से चुनावी यात्रा का औचित्य

 मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान अपने लम्बे कार्यकाल के दौरान बेहिसाब घोषणाओं, विकास के लम्बे-चौड़े  दावों और विज्ञापनबाजी में बहुत आगे साबित हुये है, वे हमेशा घोषणा मोड में रहते

राफेल: कुछ तो है जिसकी पर्दादारी है

 भारत द्वारा फ्रांस से खरीदे जाने वाले लड़ाकू विमान राफेल को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर दबाव लगातार बढ़ता जा रहा है। इस मामले की गूंज संसद से लेकर सडक़ों

बन रहा है नया इंडिया देख सको तो देख लो

क्या कोई सफल उद्यमी एक क्षेत्र में झंडे गाड़ने के बाद, किसी अन्य क्षेत्र में भी कामयाब हो सकता है? यह प्रश्न यहां इसलिए एक संदर्भ पूछा जा रहा है,

कैसे अपना देश बने मेडिकल टूरिज्म में अव्वल

अपने देश में मेडिकल टूरिज्म यानी विदेशों से इलाज के लिए आने वाले रोगियों और उनके परिवार के लोगों की संख्या में निरंतर बढ़ोतरी और निजी अस्पतालों में लगातार महंगा

भुखमरी से मरना देश के लिये राष्ट्रीय शर्म की बात है

दिल्ली में एक परिवार की तीन बेटियों की भूख से मौत हो गई है। तीनों बच्चियों की उम्र दस साल से कम थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि बच्चियों

व्यवस्था को बेनकाब करती वर्षा ऋतु

वर्षा ऋतु के आगमन से पूर्व ही मौसम विभाग द्वारा यह बार-बार बताया जा रहा था कि इस वर्ष मानसून जमकर बरसेगा। हमारे देश के किसानों के लिए खेती-बाड़ी के

कंपनियों के कब्जे में बच्चों का पोषण आहार

पिछले करीब दो सालों से मप्र में आंगनबाड़ी केंद्रों से मिलने वाले पूरक पोषण आहार सप्लाई को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है. जिसकी वजह से पोषण आहार वितरण

जाएं तो जाएं कहां?

धर्म की जीत हो-अधर्म का नाश हो, धर्मस्थानों से इस प्रकार की प्रेरणादायक व आदर्शवादी आवाज़ें कुछ ज़्यादा सुनाई देती हैं। यह उद्घोष हमारे देश के मंदिरों में प्रात: व

कोडिंग “काला”-आलेख

“पुरोहितों ने पुराणों की प्रशंसा लिखी है, कम्युनिस्टों और विवेकवादी लेखकों ने इन पुराणों की टीकायें लिखी हैं, लेकिन किसी ने यह नहीं सोचा कि हमारी भी कोई आत्मा है,

क्यों पाक सेना बना रही है इमरान को पीएम

अगर कुछ अप्रत्याशित नहीं घटा तो पाकिस्तान में आगामी 25 जुलाई को होने वाले आम चुनावों में इमरान खान की पाकिस्तान तहरीके इंसाफ (पीटीआई) पार्टी को विजय मिलने की प्रथम

तू इधर-उधर की बात न कर..

गत् 20 जुलाई 2018 को न केवल लोकसभा में विपक्ष द्वारा पेश किए गए अविश्वास प्रस्ताव पर ज़ोरदार चर्चा हुई बल्कि उस दिन सदन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व राहुल

तीज त्यौहार के दौरान महिलाओं को सौंदर्य टिप्स 

गर्मियों के मौसम के बाद महिला वर्षा ऋतु का तीज उत्सव मनाकर स्वागत करती हैं। हरियाली तीज उत्तर भारत की  महिलाओं का धार्मिक त्यौहार ही नहीं बल्कि प्राकृतिक उत्सव मानाने

बेमतलब का अविश्वास प्रस्ताव

वर्तमान मोदी सरकार के निर्धारित मियाद के आखिरी दौर में सरकार के खिलाफ विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव पर बहस और मतदान शुक्रवार को होना तय हो गया। मौजूदा मानसून सत्र

क्यों पानी-पानी हो गई दिल्ली-मुंबई

पिछले दिनों देश की राजनीतिक और आर्थिक राजधानियों दिल्ली और मुंबई बारिश से जल मग्न होती रहीं। दोनों महानगरों में जिदंगी थम सी गईं। सड़कों पर भारी जाम लग गए,

महिलाओं के नाम पर देश की बदनामी क्यों

भारत में कहा जाता है कि यत्र नार्यास्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवता:। अर्थात जहां नारी की पूजा होती है, वहां देवता निवास करते हैं। भारत में नारी को देवी के

आजादी का जश्न मनाती सउदी अरब की महिलाएं

आखिरकार लंबे संघर्ष के बाद अब सउदी अरब की महिलाएं भी दुनिया के अन्य देशों की महिलाओं की तरह कार चला सकेगी। बल्कि यों कहा जाएं तो अधिक ठीक होगा

बहुगुणकारी है लैवेंडर के फूल पौधे और उत्पाद

फूलों की बात करने पर हमारे मन मस्तिष्क में बेला, गेंदा गुलाब, चंपा, चमेली और मालती के रंग-सुगंध उभरते हैं। ये फूल अब मंदिरों-मजारों की ही शोभा बढ़ाते नजर आते

टोपीबाज़ी’ बंद करो

इसमें कोई संदेह नहीं कि भारतवर्ष शताब्दियों से स्वाभिमानियों तथा गरिमामायी लोगों का देश रहा है। भारत के विभिन्न क्षेत्रों के लोग क्षेत्रीय जलवायु तथा ज़रूरतों के अनुसार अपने सिरों

जिंदगी में जरूरी है, पॉजिटिव कम्यूनिकेशन

किसी भी कार्य को शुरू करने से पहले उसके बारे में हम बहुत बार सोचते है और फिर उस काम में हो रहे नुकसान से डरते भी है. फिर उस

Skip to toolbar