National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

बदलते मौसम में रखें अपने स्वास्थ्य का ख्याल

पिछले एक हफ्ते से बदलता मौसम लोगों को बीमार कर रहा है, जहां कुछ लोग जुकाम के कारण छींकते नजर आ रहे हैं तो वहीं कुछ लोग खांसी और हल्के बुखार से परेशान हैं। जहां अधिकतर लोग सर्दी के मौसम को पसंद करते हैं और इसका आनंद लेते हैं, वहीं इस नए साल में खासकर दिल, हड्डियों, जोड़ों और त्वचा संबंधी समस्याओं के मरीजों की संख्या में तेजी से वृद्धि होती है।
मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के इंटरनल मेडिसिन विभाग के एसोसिएट निदेशक डॉ. रोमेल टीकू ने बताया कि, “तापमान में गिरावट के साथ लोग आमतौर पर गले के संक्रमण, सांस की समस्या, बंद नाक, गले की खरास, जुकाम, बुखार आदि समस्याओं से घिरे रहते हैं। जहां इन समस्याओं से बचने के लिए इस मौसम में खुद को गर्म रखना और स्वस्थ जीवनशैली अपनाना आवश्यक है, वहीं यदि ये समस्याएं 3-5 दिन तक बनी रहती हैं तो डॉक्टर से परामर्श लेना भी आवश्यक है। यह भी देखा गया है कि वायरल इंफेक्शन के कारण इस मौसम में गले की खरास की समस्या बढ़ जाती है।”
आमतौर पर सर्दी को आलस, अत्यधिक नींद और थकान का मौसम माना जाता है। एक तरफ जहां लोग इस मौसम को लेकर उत्साहित नजर आते हैं, तो दूसरी तरफ लोग शांत और परेशान भी नजर आते हैं। ऐसा धूप की कमी के कारण होता है। मैक्स मल्टी स्पेशलिटी सेंटर की डॉ. सौम्या मुद्गल ने बताया कि, “सर्दियों की बीमारियों से बचने के लिए सारा वक्त घर में बिताने के बजाए लोगों को बाहर निकलना चाहिए, परिवार और दोस्तों के साथ मौसम का मजा लेना चाहिए और शारीरिक गतिविधि ज्यादा से ज्यादा करना चाहिए। कंपनियों को भी अपने कर्मचारियों को विंटर ब्रेक के लिए छोटी ट्रिप पर ले जाना चाहिए या फिर खेल संबंधी गतिविधियों का आयोजन करते रहना चाहिए। इस प्रकार वे अच्छा महसूस करेंगे और काम भी मन लगाकर कर सकेंगे।”
ठंड के मौसम में हार्ट फेल्योर, हार्ट अटैक, दिल की धड़कनों में गड़बड़ी, एनजाइना आदि दिल की बीमारियां बढ़ जाती हैं। ऐसा तापमान में गिरावट और प्रदूषण के कारण होता है। प्रदूषण सांस की समस्या के लिए भी जिम्मेदार होता है। इसलिए इस मौसम में दिल और बीपी के मरीजों को खुद को गर्म रखने के साथ अपना खास ख्याल रखना चाहिए। इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजी के एसोसिएट निदेशक, डॉ. नरेश कुमार गोयल ने बताया कि, “इस मौसम में शरीर अपने तापमान को सामान्य बनाए रखने के लिए ऑक्सीजन के प्रवाह को कम कर देता है, जिससे ऑक्सीजन शरीर के जरूरी हिस्सों में ठीक से नहीं पहुंच पाती है। इसके अलावा, शरीर का तापमान सामान्य बना रहे और शरीर में खून का प्रवाह ठीक से हो सके, इसके लिए दिल तेज गति से काम करने लगता है, जिससे दिल पर दबाव बढ़ जाता है। शरीर को स्वस्थ और गर्म बनाएं रखने के लिए नियमित रूप से एक्सरसाइज करना जरूरी है।”

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar