न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

मूवी रिव्यू : टर्मिनेटर (डार्क फेट)

हॉलिवुड की सुपरहिट ऐक्शन-अडवेंचर फ्रैंचाइची टर्मिनेटर के फैंस, जो इसकी दूसरी कड़ी ‘टर्मिनेटर 2: जजमेंट डे’ के बाद से ही इसके एक सच्चे सीक्वल की राह देख रहे थे, उनका इंतजार इसकी छठी फिल्म ‘टर्मिनेटर: डार्क फेट’ पर पूरा होता दिख रहा है। ‘टर्मिनेटर: डार्क फेट’ की सबसे बड़ी खास बात यह है कि इसमें इस सीरीज की सुपरहिट तिकड़ी अर्नोल्ड श्वार्जनेगर, लिंडा हेमिल्टन और जेम्स कैमरून (को-प्रड्यूसर और राइटर) का जादू 28 साल बाद दोबारा देखने को मिल रहा है। हालांकि, इस बार उनके साथ एक नया और उच्च तकनीक वाला बेहद ताकतवर टर्मिनेटर रेव 9 (डियागो लूना), उसका नया टार्गेट डैनियेला रामोस उर्फ दानी (नतालिया रेयेस) और दानी की प्रोटेक्टर अडवांस फ्यूचर ह्यूमन ग्रेस (मैकेंजी डेविस) भी हैं।
टर्मिनेटर: डार्क फेट सही मायने में ‘टर्मिनेटर 2: जजमेंट डे’ का डायरेक्ट सीक्वल है। फिल्म की कहानी सारा कोनर (लिंडा हेमिल्टन) के बेटे जॉन की मौत के 22 साल बाद मैक्सिको पहुंचती है। यहां एक फैक्ट्री में काम करने वाली दानी अपने पिता और भाई के साथ खुशहाल जिंदगी जी रही है, लेकिन एक पल में उसकी दुनिया तब उलट जाती है, जब शक्तिशाली किलिंग मशीन टर्मिनेटर रेव 9 और फ्यूचर ह्यूमन मशीन ग्रेस उसकी जिंदगी में दाखिल होते हैं। रेव 9 उसे मारना चाहता है, तो ग्रेस उसे बचाना।

कलाकार : अर्नॉल्ड श्वार्जनेगर, लिंडा हेमिल्टन, मैकेंजी डेविस, नतालिया रेयेस
निर्देशक : टिम मिलर
मूवी टाइप : अडवेंचर, साइंस-फिक्शन, ऐक्शन
अवधि : 2 घंटा 8 मिनट

इस चक्कर में ग्रेस और रेव 9 के बीच सांसें रोक देनेवाला मुकाबला देखने को मिलता है, जिसमें दानी और ग्रेस का साथ देने पहुंचती है, ‘आई विल बी बैक’ का वादा करने वाली सारा कोनर। एक टर्मिनेटर द्वारा अपने बेटे जॉन को मारे जाने के बाद सारा की जिंदगी का मकसद ही टर्मिनेटर्स का खात्मा बन चुका है। ये तीनों औरतें उस अपराजित से लगने वाले खूंखार टर्मिनेटर को हर तरह से हराने में जुट जाती हैं। इसी कोशिश में सारा का सामना उसके बेटे के हत्यारे कार्ल यानी टर्मिनेटर टी- 800 (अर्नोल्ड श्वार्जनेगर) से भी होता है, जो रिटायरमेंट के बाद एक पारिवारिक और सिंपल जिंदगी जी रहा है। ऐसे में, सारा और कार्ल का रिश्ता क्या मोड़ लेता है? ये तीनों औरतें रेव 9 से कैसे निबटती हैं? यह सब देखना दिलचस्प है।

डेडपूल फेम निर्देशक टिम मिलर के निर्देशन में बनी यह फिल्म टर्मिनेटर सीरीज के सांसे थामने वाले ऐक्शन के चाहनेवालों को निराश नहीं करती। फिल्म में कई बड़े और धुआंधार ऐक्शन सीक्वेंस हैं। वहीं, रोमांच के साथ-साथ ग्रेस और दानी के इमोशनल सीन्स और सारा-कार्ल के भावनात्मक उतार-चढ़ाव भरे सीन्स भी प्रभावित करते हैं। अदाकारी की बात करें, तो लिंडा और अर्नोल्ड अपने चिरचरिचित अंदाज में स्क्रीन पर असरदार हैं। उनके बीच की नोक-झोंक फिल्म की जान है। दानी के रूप में नतालिया परफेक्ट हैं, तो रेव 9 के रूप में लूना वाकई खतरनाक लगते हैं। लेकिन इन सबके बीच बाजी मारती हैं, मैकेंजी डेविस, जो ग्रेस के रूप में जबरदस्त हैं। आईएमडीबी पर फिल्म की रेटिंग साढ़े छह है।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar