National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

बाजार की कमर तोड़ रहा है ये संक्रमण

चीन: घातक कोरोना वायरस (Corona Virus) चीन में लोगों की जान तो ले ही रहा है. इसके साथ ही इस संक्रमण की वजह से चीन की अर्थव्यवस्था भी धराशायी हो रही है. 31 दिसंबर, 2019 को चीन के वुहान शहर में पैदा हुए इस वायरस की वजह से अब 20,438 संक्रमित हो चुके हैं. और लगभग 425 लोगों की मौत हो चुकी है. लेकिन इससे भी ज्यादा चिंता वाली बात ये है कि चीन की अर्थव्यवस्था पर इस वायरस का घातक असर पड़ने वाला है.

  • साल के शुरुआत में ही पर्यटन में नुकसान

कोरोना वायरस की वजह से चीन को सबसे पहला नुकसान पर्यटन से होने वाली कमाई में हुआ है. चीनी न्यू ईयर को देखने के लिए दुनिया से हजारों लोग चीन आते हैं. नए की शुरुआत में ही कोरोना वायरस के संक्रमण की खबरें आने के बाद इस साल बेहद कम लोग ही चीन में घूमने गए. चीनी सरकार ने खतरे को देखते हुए होटल, रेस्टोरेंट्स और टूरिस्ट प्लेस बंद कर दिए है. इसकी वजह से चीनी पर्यटक उद्योग को भी नुकसान हो रहा है.

  • शेयर बाजार में भारी गिरावट

वायरस संक्रमण का असर सीधे चीनी शेयर मार्केट में दिख रहा है. सोमवार को चीन के शंघाई स्टॉक मार्केट में 8 प्रतिशत की भारी गिरावट दर्ज की गई है. इस गिरावट की वजह से चीनी बाजार को 445 मिलियन डॉलर (3170 करोड़ रूपये) का नुकसान हुआ है. पिछले 30 दिनों में चीन के शेयर बाजार में निवेशकों के करीब 30 लाख करोड़ रुपये डूब चुके हैं. इससे निवेशकों को लगभग 42,000 करोड़ डॉलर की चपत लग चुकी है. चीन की करेंसी युआन अब तक 1.6 फीसदी कमजोर हो चुकी है.

  • चीन की विकास दर 2.6 फीसदी कम होने की आशंका

आर्थिक मामलों के जानकारों का कहना है कि कोरोना वायरस की वजह से आयात-निर्यात पर बुरा असर दिख रहा है. साथ ही घरेलू बाजारों के बंद होने और एहतियातन शहरों के बंद होने की वजह से चीन के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) पर बुरा असर पड़ेगा. जानकारों का कहना है कि इस वायरस की वजह से चीन के विकास दर में 1.1-2.6 फीसदी तक कमी आने की आशंका है. उल्लेखनीय है कि 2002-03 में सार्स वायरस के संक्रमण की वजह से भी चीन को काफी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा था. आंकड़े के मुताबिक सार्स महामारी की वजह से चीन का विकास दर 1.1 से लेकर 2.6 प्रतिशत तक प्रभावित हुआ था.

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar