National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

UGC की रिवाइज्ड एकेडमिक कैलेंडर 2020 -21 जारी, स्टूडेंट्स और कॉलेज न हों कंफ्यूज

नई दिल्ली. यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (यूजीसी) ने यूजी और पीजी के फर्स्ट ईयर के स्टूडेंट्स की खातिर नए एकेडमिक ईयर की शुरुआत और परीक्षा तारीखों को लेकर एक रिवाइज्ड एकेडमिक गाइड लाइन जारी किया है. यूजीसी ने यह रिवाइज्ड गाइड लाइन एक्सपर्ट कमेटी की सिफारिश के बाद जारी किया है. जारी किए गए रिवाइज्ड एकेडमिक गाइड लाइन के मुताबिक यूजी और पीजी के फर्स्ट ईयर के स्टूडेंट्स के लिए अब नए एकेडमिक ईयर की शुरुआत 01 नवंबर 2020 से की जाएगी. यानि कि फर्स्ट ईयर के इन स्टूडेंट्स की कक्षाएं 01 नवंबर 2020 से शुरू हो जाएंगी.
यूजीसी ने इस मामले में सभी विश्वविद्यालयों से कहा है कि यूजी और पीजी के फर्स्ट ईयर के स्टूडेंट्स के दाखिले की प्रक्रिया 31 अक्टूबर 2020 तक हर-हाल में पूरी हो जानी चाहिए. यूजीसी के जारी किए गए रिवाइज्ड एकेडमिक कैलेंडर के मुताबिक फर्स्ट ईयर की परीक्षाएं 08 मार्च 2021 से लेकर 26 मार्च 2021 के बीच आयोजित की जाएंगी.

इस तरह से स्टूडेंट्स और कॉलेज हुए कंफ्यूज:
जब से यूजीसी ने रिवाइज्ड एकेडमिक कैलेंडर जारी किया है तब से मुंबई के स्टूडेंट्स और कॉलेज नई तारीखों को लागू करने को लेकर कंफ्यूज हैं. दरअसल मामला यह है कि यूजीसी ने जो पिछली गाइड लाइन जारी किया था उसके मुताबिक नया एकेडमिक ईयर सितंबर से शुरू होना था. मुंबई यूनिवर्सिटी ने इसी गाइड लाइन के मुताबिक अपना कार्य कर रहा है. लेकिन यूजीसी के रिवाइज्ड एकेडमिक कैलेंडर के मुताबिक नए एकेडमिक ईयर की शुरुआत अब 01 नवंबर 2020 से की जाएगी. अब यहीं पे मामला यह फंस गया है कि मुंबई यूनिवर्सिटी ने जब यूजी के फर्स्ट ईयर के दाखिले की प्रक्रिया अगस्त तक पूरा कर चुका है और कई कॉलेजों में तो ओरिएंटेशन कार्यक्रम भी शुरू हो गया है और वे रेगुलर क्लासेज के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. तो इस समय यूजीसी के रिवाइज्ड एकेडमिक कैलेंडर को लेकर भ्रम की स्थिति पैदा हो गयी है जिस पर मुंबई यूनिवर्सिटी इस मामले पर यूजीसी से स्पष्टता चाहता है.

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar