न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

आज सोची-समझी साजिश के तहत भ्रम, भ्रांति और गलत सूचना देकर देश का माहौल खराब किया जा रहा है:रविशंकर प्रसाद

विजय न्यूज़ ब्यूरो
नई दिल्ली । केंद्रीय कानून मंत्री श्री रविशंकर प्रसाद ने आज भाजपा प्रदेश कार्यालय में एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि शाहीन बाग में हो रहे विरोध प्रदर्शन को देश विरोधी ताकतों का समर्थन मिल रहा है जिसे देश बर्दाश्त नहीं करेगा। इस प्रेस वार्ता में राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री संबित पात्रा, सांसद श्रीमती मीनाक्षी लेखी, पूर्व केंद्रीय मंत्री व राज्यसभा सांसद श्री विजय गोयल, राष्ट्रीय मीडिया संयोजक डॉ. संजय मयूख, प्रदेश मीडिया प्रभारी श्री प्रत्यूष कंठ, सह-प्रभारी श्री नीलकांत बक्शी, मीडिया प्रमुख श्री अशोक गोयल देवराहा उपस्थित थे।

शाहीन बाग के विरोध प्रदर्शन में बच्चों की मासुमियत को इस्तेमाल करने को गलत बताते हुए केंद्रीय कानून मंत्री श्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि शाहीन बाग अब एक मोहल्ला नहीं रहा, न ही भूगोल को टुकड़ा रहा बल्कि एक विचार बन गया हो जहां भारत के झंडे तले ही देश को तोड़ने वालों को मंच दिया जाता है। जहां पर टुकड़े-टुकड़े गैंग पीछे खड़े रहते हैं, जहां मासूम बच्चों को छलावा देते हुए उन्हें प्रधानमंत्री जी को मारने जैसा बयान दिलवाया जाता है। लोकतंत्र में सबको बात रखने का अधिकार है लेकिन ये विरोध नागरिकता कानून के खिलाफ नहीं है, असल में ये मोदी जी का विरोध है। देश के हर कोने में जाकर भाजपा के कार्यकर्ता से लेकर प्रधानमंत्री मोदी जी ने स्वंय बताया कि नागरिकता संशोधन कानून से भारत के नागरिकों को कोई खतरा नहीं है, न ही मुस्लमानों को, इस देश का हर मुस्लिम नागरिक इज्जत के साथ रहता है और रहेगा। दोनों सदनों में सीएए को लेकर बहस हुई और सारी कानूनी प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही ये कानून किया गया लेकिन फिर भी इसमें लोगों को आपत्ति है। शाहीन बाग में बैठे कुछ लोग उन शांतिप्रिय लाखों लोगों की आवाज को दबा रहे हैं, प्रदर्शन की वजह से बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे हैं, लोग दफ्तर नहीं पहुंच पा रहे हैं, एंबुलेंस को रास्ता नहीं दिया जा रहा है, राहुल गांधी और केजरीवाल खामोश क्यों है। आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के नेता शाहीन बाग के समर्थन में बोल रहे हैं। क्या वो भूल गए कि 2010 में जब देश में कांग्रेस की सरकार थी, मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री व पी. चिदंबरम गृहमंत्री थे तब सरकार ने एक नोटिफिकेशन जारी किया जिसमें साफ-साफ कहा गया कि वो नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर को लागू करने जा रहे हैं? उस समय सभी पार्टियों ने एनपीआर को लेकर कांग्रेस का समर्थन किया था, लेकिन आज सोची-समझी साजिश के तहत भ्रम, भ्रांति और गलत सूचना देकर देश का माहौल खराब किया जा रहा है। विपक्ष ये बताएं कि आप करें तो ठीक, हम करें तो गलत कैसे?

कांग्रेस नेताओं द्वारा जिन्ना को लेकर दिए गए बयानों पर हमला बोलते हुए श्री प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस का जिन्ना प्रेम फिर से जाग उठा है। ये कांग्रेस के लिए चेतावनी है कि अब देश का कोई बंटवारा नहीं होगा। अगर किसी ने ऐसा करने क कोशिश की तो कार्रवाई भी होगी। केजरीवाल इसपर चुप क्यों है? क्या कांग्रेस को नहीं पता कि जिन्ना की सोच ने पाकिस्तान के अल्पसंख्य समुदाय पर क्या असर डाला, उनकी जनसंख्या अब आधे से भी कम रह गई है? भारत में सभी के लिए इज्जत है चाहे वो किसी भी देश का हो। हमें गर्व है डॉ. कलाम पर, मौलाना आजाद पर, अब्दुल हमीद पर, अशफाकुल्ला खान पर। आज भारत में रह रहे मुस्लमान जिन्होंने अपने योगदान से देश का नाम रौशन किया है उन्हें पद्म श्री से नवाजा गया है, इसमें भी कांग्रेस के लोगों को दिक्कत है। गायक अदनान सामी पाकिस्तान से भारत आए, यहां रहे, भारत से प्रेम किया, उन्हें भारत की नागरिकता मिली और अब उनकी गायकी के लिए भारत सरकार ने उन्हें सम्मान दिया तो कांग्रेस इस पर भी सवाल कर रही है। वोट बैंक के लिए राहुल गांधी और केजरीवाल ने टुकड़े-टुकड़े गैंग का समर्थन किया। ये जनता को तय करना है कि वो कैसा हिन्दुस्तान चाहते हैं, कैसी दिल्ली चाहते हैं? क्या दिल्ली में ऐसे लोगों को जगह मिलनी चाहिए, जो वोट के लिए दिल्ली को ठप्प करने पर तुले हैं, जो असम को भारत से काटना चाहते है?

संविधान की कॉपी दिखाते हुए श्री प्रसाद ने कहा कि आजादी के बाद संविधान में भारत की विरासत को समेटा गया जिसके लिए डॉ. राजेन्द्र प्रसाद, जवाहर लाल नेहरू, भीमराव अंबेडकर, सरदार पटेल, मौलाना आजाद ने कलाकृतियों को चुनकर एक चित्रकार को जिम्मेदारी दी संविधान के पन्नों पर बनाने की। संविधान के पन्नों पर राम, सीता, कृष्ण, बुद्ध, महावीर, हनुमान, नटराज, अकबर की तस्वीर बनी है, लेकिन बाबर और औरंजेब की नहीं है। सर्व सहमती के बाद संविधान के आखिरी पन्ने पर सभी नेताओं के हस्ताक्षर है। अगर ये संविधान आज बनता और इन्हीं चित्रों का इस्तेमाल होता तो शाहीन बाग की भीड़ कहती कि भारत हिन्दू राष्ट्र बन रहा है। जो संवैधानिक राष्ट्रवाद की बात करते हैं उन्हें संविधान के मूलभाव को समझने की जरूरत है। हमें गर्व है कि भाजपा भारत की विरासत, संस्कार और संस्कृति का सम्मान करती है।

पत्रकारों के सवाल के जबाव में श्री प्रसाद ने कहा कि कई बार पुलिस की अपील के बाद भी शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी जगह को खाली करने को तैयार नहीं है। ये बहुत ही दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है कि एक कानून जो अल्पसंख्यक पीड़ित लोगों के आंसू पोछने का था उस कानून पर विरोध करने के लिए देश विरोधी सभी ताकतें एक हो गई है। सरकार इसपर संयमित ढंग से काम कर रही है और अराजकत तत्वों पर कार्रवाई भी होगी। वहीं खबरों में बने रहने के लिए कांग्रेस के नेता बयानबाजी कर रहे हैं।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar