National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

वैलेंटाइन डे स्पेशल : प्रेम का महीना

बहुत सताता मुझे प्रेम का महीना,
कितना मुश्किल बिना प्रेम जीना।

मेरे दिलरुबा को ये पैगाम दे दो,
उसे मेरे मोहब्बत का सलाम दे दो।

कह दो करता हूं मोहब्बत उससे,
मेरे हाल ए दिल एहतराम दे दो।

मैं पढ़ाता हूं दिल की किताब को,
समझता हूं उसके मन की बात को।

वक्त लेता रहा है सब की परीक्षा,
उसके परीक्षा का परिणाम दे दो।

क्यों करती है मुझ पर शक वह,
उसे भी मेरे दिल का हाल दे दो।

कहां गुम हो गई है मेरी वैलेंटाइन,
जाकर अखबारों में इश्तेहार दे दो।

आज भी कर रहा इंतजार उसका,
इजहार ए प्रीत का पैगाम दे दो।

गोपेंद्र कुमार सिन्हा ‘गौतम’
देवदत्तपुर दाउदनगर औरंगाबाद बिहार
WhatsApp number 95 0 7 341433

Print Friendly, PDF & Email
Translate »