न्यूज के लिए सबकुछ, न्यूज सबकुछ
ब्रेकिंग न्यूज़

ट्विटर सस्पेंड होने से पहले रोते हुए कंगना का वीडियो, बोलीं- देश क्या देशद्रोही चलाएंगे?

मुंबई। बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत अपनी बेबाक टिप्पणियों की वजह से हमेशा चर्चा में बनी रहती हैं. एक्ट्रेस ने हाल ही में बंगाल चुनाव के बाद भड़के दंगों पर कई सारे ट्विट्स किए. इसके अलावा उन्होंने ममता बनर्जी पर भी आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया. हाल ही में ट्विटर ने उनके खिलाफ एक्शन लिया है और उनका ट्विटर अकाउंट सस्पेंड कर दिया है. अब इससे कुछ समय पहले का ही उनका एक इंस्टाग्राम वीडियो सामने आया है जिसमें वे बंगाल में हुई हिंसा पर बात कर रही हैं और साथ ही वे अपनी बात रखते हुए रोती हुई नजर आ रही हैं.

कंगना ने क्या कहा?
दोस्तों हम लोग देख रहे हैं कि बंगाल से बहुत ज्यादा डिस्टर्ब करने वाली खबरें सामने आ रही हैं. मर्डर हो रहे हैं. दंगे हो रहे हैं. गैंगरैप हो रहे हैं. घरों को जलाया जा रहा है. कोई भी लिब्रल कुछ नहीं कह रहा है. कोई इंटरनेशनल मीडिया भी इसे खबर नहीं कर रहा है. मुझे समझ नहीं आ रहा है कि ये कौन सी कंसपिरेसी चल रही है इंडिया के खिलाफ. कोई बहुत बड़ी कंस्पिरेसी है. ये बहुत ही ज्यादा अननेचुरल है.

प्रेसिडेंट रूल लगाने की सरकार से अपील
मैं सरकार की बहुत बड़ी सपोर्टर हूं. मैं ये सब देख कर बहुत ज्यादा निराश हूं. वहां पर खून की नदियां बह रही हैं. तो आप लोग धरना करना चाहते हैं. कड़ी निंदा करना चाहते हैं. क्यों डर गए हैं आपलोग देशद्रोहियों से? क्या अब देशद्रोही ये देश चलाएंगे? मुझे पता है कि हम लोग बुरी तरह से फंस गए हैं. इस वक्त पर जब प्रेसिडेंट रूल की जरूरत है. पंडित नहरू ने 12 बार लगाया था. इंदिरा गांधी ने 50 बार लगाया था. मनमोहन सिंह ने 10 बार लगाया था. हम किससे डर रहे हैं? क्या मासूमों की हत्या होगी और हम लोग सिर्फ धरना देंगे. मेरा सरकार से जरूरत है कि ये नरसंहार रोकिए और कड़ा से कड़ा कदम उठाइए.

बंगाल में बीजेपी की हार से नाखुश कंगना
बता दें कि कंगना रनौत पिछले कुछ समय से कोरोना वायरस के संदर्भ में भी कई सारी बातें ट्वीट कर रही हैं. वे लगातार ऑक्सीनज को लेकर भी कई सारे ऐसे कमेंट्स करती नजर आईं जिसमें उनकी आलोचना की गई. साथ ही कई सारे मीम्स भी बने. वहीं बंगाल में बीजेपी की हार से भी कंगना नाखुश हैं. वे ममता और टीएमसी के खिलाफ भी कई सारे ट्वीट्स करती नजर आईं.

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar