National Hindi Daily Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़

कन्या (Virgo) : अगस्त 2020, मासिक राशिफल

सामान्य
कन्या राशि के जातकों को अगस्त के महीने में मिले-जुले परिणामों की प्राप्ति होगी। आपके घर में आर्थिक प्रगति आएगी और मेहमानों का आना जाना लगा रह सकता है। इसके अतिरिक्त कार्य क्षेत्र में भी स्थिति आपके लिए बेहतर बनेगी। इस दौरान संतान अपने अपने क्षेत्र में काफी मेहनत करेगी, जो आपको सुकून देगा और आपको महसूस होगा कि आपको संतान के रूप में अपने श्रेष्ठ कर्मों का फल प्राप्त हुआ है। इसके अतिरिक्त यदि भूतकाल में आपसे कोई गलती हुई थी तो इस दौरान आप उसके लिए ग्लानि का अनुभव करेंगे और उसका पश्चाताप करने का प्रयास भी करेंगे, जिससे आपका मन और चित्त एकदम शुद्ध हो जाएगा और आप काफी हल्का महसूस करेंगे। मानसिक तौर पर आप भले ही थोड़े तनाव में दिखाई दें, लेकिन आर्थिक तौर पर आपके लिए महीना काफी बेहतर रहेगा। यात्राओं की संभावना अधिक नहीं है, फिर भी जो यात्राएं होंगी वह आपके फायदे में ही रहेंगे आपके कम्युनिकेशन और टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में अच्छे अनुभव की प्राप्ति होगी और आप तरक्की करेंगे।

कार्यक्षेत्र
करियर की बात की जाए तो राहु अपनी प्रबल राशि में बुध और शुक्र के साथ उपस्थित रहेगा, जिसकी वजह से आपको बेहतरीन परिणाम मिलेंगे। आपका व्यवहार और आपका बातचीत करने का तरीका कार्यस्थल पर सबका मन जीत लेगा और इसलिए आपके शत्रु भी आपके मित्र बन जाएंगे, जिससे कार्यक्षेत्र पर सब कुछ आपके अनुकूल ही रहेगा और आपकी स्थिति काफी बेहतर रहेगी। पखवाड़े के अंतराल में मंगल का गोचर अष्टम भाव में होने से आपको अचानक से कुछ ऐसी योजनाएं प्राप्त हो सकती हैं, जो भविष्य में आपके लिए आर्थिक तौर पर काफी फ़ायदेमंद हों, इस ओर ध्यान रखें तथा शनिदेव की कृपा आप के पंचम भाव में रहेगी, जिससे नौकरी के क्षेत्र में अगर फिलहाल आपको सफलता ऐसा लगता भी है कि आपके काम को पूरी सराहना नहीं मिली तो भी थोड़ा धैर्य ज़रुर बनाए रखें क्योंकि आपको अवश्य ही प्राप्त होगी। यदि आप व्यापार करते हैं तो यह महीना समझिये आप ही के लिए बना है, क्योंकि यही वो समय है जब आप जबरदस्त सफलता की राह पर होंगे और आप जिस भी काम में आज डालेंगे, उसमें सोना ही उगलेगा। अर्थात आपकी मेहनत आपकी दूरदर्शिता और आप की सोची समझी रणनीति, आपके व्यापार को चारों ओर से प्रगति के रास्ते पर ले कर जाएगी और यह महीना आपके लिए काफी बेहतर साबित होगा। केवल सरकारी तंत्र से कुछ गलत बयान बाजी अथवा कागज़ों की हेरफेर करना आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है, इसलिए इस समय विशेष में इन बातों का अवश्य ही ध्यान रखें अन्यथा स्थितियां काफी प्रतिकूल होंगी। समय तौर पर कहा जा सकता है कि इस दौरान आपका करियर आगे बढ़ेगा।

आर्थिक
आर्थिक स्थिति को देखें तो सबसे अच्छी स्थिति में आपके शनि देव हैं, जो पंचम भाव के स्वामी होकर पंचम भाव में बैठे हैं और वहां से एकादश भाव को तथा द्वितीय भाव को देख रहे हैं। इस प्रकार 3 धन भावों का योग बनने से शनिदेव विशेष रूप से आपके लिए आर्थिक चुनौतियों को समाप्त करने में आपकी मदद करेंगे। आपकी आमदनी में वृद्धि होगी और आपकी दैनिक जरूरतों के हिसाब से भी आपकी आमदनी अच्छी रहेगी। वहीं दूसरी ओर, शुक्र और राहु की युति काफी बेहतर परिणाम लेकर आएगी, जिसमें बृहस्पति का योग भी अच्छा रहेगा। व्यापार करने वाले लोगों के लिए समय बेहतरीन रहेगा। इस दौरान उन्हें काफी मुनाफ़ा प्राप्त हो सकता है। यदि आप शादीशुदा हैं तो ससुराल पक्ष से भी कुछ धन आपको प्राप्त हो सकता है। अर्थात आपकी आर्थिक स्थिति काफी बेहतर रहेगी। पारिवारिक तौर पर कुछ घरेलू खर्च आप अवश्य कर सकते हैं।

स्वास्थ्य
स्वास्थ्य के मामले में इस महीने आपको थोड़ी सी सावधानी की जरूरत होगी। हालांकि किसी बड़ी समस्या की संभावना तो नहीं, लेकिन अचानक से कोई रोग प्रकट हो सकता है, क्योंकि आपकी राशि का स्वामी बुध, राहु और शुक्र के साथ स्थित है, जिस पर बृहस्पति और केतु का भी प्रभाव है तथा अष्टम भाव के स्वामी मंगल की सप्तम भाव में बैठकर उस पर पूर्ण दृष्टि भी पड़ रही है। ऐसी स्थिति में आपको स्वास्थ्य समस्याएं परेशान कर सकती हैं और आपका स्वास्थ्य कुछ हद तक पीड़ित रह सकता है। हालांकि बुध, राहु और शुक्र दोनों के साथ अछि मित्रता रखता है, फिर भी मंगल और बृहस्पति का प्रभाव कुछ हद तक समस्याएं उत्पन्न कर सकता है। इसमें विशेष तौर पर छाती, घुटने और पैरों में दर्द की समस्या हो सकती है। इन सभी के प्रति पूरी तैयारी रखें और आवश्यकता होने पर आवश्यक कदम उठाएं।

प्रेम व वैवाहिक
यदि आप किसी से प्रेम करते हैं तो किसी बात को लेकर इस दौरान आपके मन में ग्लानि आ सकती है, इसलिए यदि आप ने अपने प्रियतम से कोई बात छुपाई है तो उन्हें तत्काल बताएं, ताकि आप का भरोसा कभी टूटने ना पाए और वह आप पर पूरा विश्वास कर सकें। अपने प्रेम में ईमानदार रहें! शनि की दृष्टि आपके सप्तम भाव पर भी होगी, जो फिलहाल मंगल अधिक्षित भाव है। ऐसे में यदि आप प्रेम विवाह की ओर बढ़ेंगे तो कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है, इसलिए थोड़ा सा और रुक जाएं और इस महीने विशेष तौर पर 16 अगस्त के बाद ही इस दिशा में प्रयास करें तो आपको सफलता मिलने की संभावना रहेगी और आप प्रेम विवाह करने में सफल हो सकते हैं। जिन लोगों के लिए उनका कोई खास मित्र बेहद विशेष है, उनके साथ विवाह बंधन में बनने की तैयारी कर सकते हैं। छिटपुट समस्याओं के बावजूद आप की लव लाइफ बेहतर तरीके से चलेगी।
यदि आप विवाहित हैं तो इस महीने आपको थोड़ा सा सावधान रहना होगा और उसकी वजह है कि आपके सप्तम भाव के स्वामी का चतुर्थ भाव में जाकर पीड़ित होना और सप्तम भाव में मंगल की स्थिति। ये दोनों ही ग्रह जनित योग आपके दांपत्य जीवन में कुछ तनाव दे सकते हैं, विशेषकर आपके माता-पिता से आपके जीवन साथी का झगड़ा हो सकता है। घर में इस दौरान कुछ अशांति फैल सकती है, जिसमें जीवन साथी भी सम्मिलित होगा। ऐसे में स्थिति को देखकर ही व्यवहार करना बेहतर होगा। हालांकि आपके जीवन साथी का इसमें अधिक रोल नहीं होगा, फिर भी आपको उनके साथ बैठ कर बातचीत करनी चाहिए ताकि समस्याओं को दूर किया जा सके। दूसरी ओर आपका जीवन साथी अपने मन से परिवार के दायित्वों का पालन भी करेगा तथा उनके माध्यम से आपको आर्थिक लाभ भी प्राप्त होगा।

पारिवारिक
पारिवारिक जीवन की बात की जाए तो देव गुरु बृहस्पति आपके चतुर्थ भाव में रहेंगे, जिन पर राहु, शुक्र, बुध और केतु का प्रभाव रहेगा। यह स्थिति अधिक अनुकूल तो नहीं कही जा सकती, इसकी वजह से घर के किसी वरिष्ठ सदस्य का स्वास्थ्य बिगड़ सकता है, इसके प्रति आपको थोड़ा सा सचेत रहना चाहिए। इसके अतिरिक्त परिवार में मंगल और शुभ कार्य हो सकते हैं और मेहमानों का आना जाना लगा रह सकता है। इस वजह से परिवार में थोड़ा हर्ष और उल्लास का वातावरण रहेगा। इसके अतिरिक्त छोटे भाई और बहिन आपके काम में आपका हाथ बँटाएंगे। आपके पिताजी भी आपके काम में आपकी मदद करेंगे, इससे आपका हौसला काफी बढ़ जाएगा और आप अपने कामों में आगे बढ़ेंगे तथा परिवार में भी एकजुटता आएगी, जिसकी वजह से समाज में परिवार का कद ऊंचा होगा।

उपाय
इस महीने उपाय के तौर पर आपको फायर ओपल रत्न धारण करना चाहिए, जिससे कि आपको शुक्र और बुध का सम्मिलित प्रभाव मिले और आपके जीवन में भाग्य मजबूत हो और कैरियर मजबूत बने। इसके अलावा कुछ छोटी कन्याओं के पैर छूकर आशीर्वाद लें और उन्हें हरे रंग की कोई वस्तु भेंट करें तथा अपने हाथों से गौ माता को हरा चारा या फिर हरी सब्ज़ियाँ ज़रूर खिलाएं। शनिवार के दिन ग़रीबों को भोजन कराना सबसे बेहतर रहेगा।

Print Friendly, PDF & Email
Skip to toolbar